आज की गुना जिले की न्यायालय की खबरों को देखने के लिए नीचे लिंक पर क्लिक करें

1.

सत्र न्यायालय से बंदूक से फायर करने वाले पूर्व सरपंच की जमानत निरस्त

गुना। अपर सत्र न्यायालय चाचौड़ा ने रास्तेे को लेकर मारपीट कर बंदूक से फायर करने वाले आरोपी रामप्रसाद भील के द्वारा जमानत के लिये पेश किए गए आवेदन को खारिज किया
  
मीडिया सेल प्रभारी निर्मल कुमार अग्रवाल ने बताया कि दिनांक 27/04/2020 फरियादी गुलाबचंद भील निवासी फतेहपुर अपनी बकरियों को चराने के लिये खेत पर ले जा रहा था जैसे ही वह करण सिंह भील के खेत पर पहुँचा तभी रामप्रसाद भील पूर्व सरपंच फतेहपुर का अपने हाथ में 12 बोर की बंदूक लेकर आया और कहने लगा मेरे घर के सामने मत निकला कर मैंने कहा कि यह तो सरकारी रास्ता हैं मैं तो यही से निकलूंगा इसी बात पर से रामप्रसाद भील मुझे गंदी-गंदी मां बहन की गालियां देने लगा मैंने गाली देने से मना किया तो राप्रसाद अपने हाथ में लिए हुए बंदूक से मेरे ऊपर जाने से मारने की नियत से गोली चलाई मैं झुका तो गोली मेरे दॉंये कंधे पर लगी प्रकरण में शासन की ओर से संचालन हरिओम वर्मा विशेष लोक अभियोजक ने किया मामला थाना मृगवास का हैंं। 
2 .

सत्र न्यायालय से बंदूक से फायर करने वाले पूर्व सरपंच की जमानत निरस्त 

गुना। अपर सत्र न्यायालय चाचौड़ा ने रास्तेे को लेकर मारपीट कर बंदूक से फायर करने वाले आरोपी रामप्रसाद भील के द्वारा जमानत के लिये पेश किए गए आवेदन को खारिज किया
  
     मीडिया सेल प्रभारी निर्मल कुमार अग्रवाल ने बताया कि दिनांक 27/04/2020 फरियादी गुलाबचंद भील निवासी फतेहपुर अपनी बकरियों को चराने के लिये खेत पर ले जा रहा था जैसे ही वह करण सिंह भील के खेत पर पहुँचा तभी रामप्रसाद भील पूर्व सरपंच फतेहपुर का अपने हाथ में 12 बोर की बंदूक लेकर आया और कहने लगा मेरे घर के सामने मत निकला कर मैंने कहा कि यह तो सरकारी रास्ता हैं मैं तो यही से निकलूंगा इसी बात पर से रामप्रसाद भील मुझे गंदी-गंदी मां बहन की गालियां देने लगा मैंने गाली देने से मना किया तो राप्रसाद अपने हाथ में लिए हुए बंदूक से मेरे ऊपर जाने से मारने की नियत से गोली चलाई मैं झुका तो गोली मेरे दॉंये कंधे पर लगी प्रकरण में शासन की ओर से संचालन हरिओम वर्मा विशेष लोक अभियोजक ने किया मामला थाना मृगवास का है

3.
             
शराब की लत इतनी की  मारपीट पर उतारू हो गया  न्यायालय ने  किया सलाखों के पीछे 
 
गुना। न्यायालय राधौगढ़ में शराब के लिये पैसे न देने पर मारपीट करने वाले आरोपी शब्बीर उर्फ गदर निवासी बरवटपुरा राधौगढ़ को पुलिस ने पेश किया।
          शासन का पक्ष रखने वाले एडीपीओ मयंक भारद्वाज ने बताया कि फरियादी रज्जाक पुत्र जुम्मन खांन निवासी कटरा मोहल्ला राधौगढ़  दिनांक 23/07/2020 के शाम करीबन 7 बजे सब्जी  मंडी जा रहा था शमशान घाट के पास पहुंचा तो शब्बीर उसका रास्ता रोककर उससे शराब  के लिये 100 रूपये मांगने लगा उसने देने से मना किया तो बोला तू मुझे जानता नहीं हैं मैं राधौगढ़ का दादा हूं और लात घूसों से मारपीट करने लगा जिससे मेरे शरीर में जगह-जगह चोटे आयीं मामला राधौगढ़ थाने का है

4.

 करीब 100 लोगों की भीड़ के साथ मिलकर कई वाहनों एवं घरो की तोड़फोड़ करने वाले आरोपी को न्यायालय ने भेजा जेल
 
मामला वर्ष 2015 का कर्नेल गंज गुना का बहुचर्चित मामला है

गुना। मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट गुना में थाना कोतवाली द्वारा वर्ष 2015 में कर्नेल गंज हाजी चौक गुना में करीब 100 लोगों की भीड़ द्वारा तलवार, फर्सी से तोड़फोड़ कर कई वाहनो एवं घरो को क्षतिग्रस्त करने वालो मे से आरोपी राजकुमार अहिरवार पुत्र विष्णु प्रसाद अहिरवार निवासी चौधरी मोहल्ला् जैन मंदिर के पास गुना को गिरफ्तार कर पेश किया गया। प्रकरण में शासन की ओर से पैरवी श्रीमति सविता बजाज एडीपीओ द्वारा की गई।
     मीडिया सेल प्रभारी निर्मल कुमार अग्रवाल ने बताया कि फरियादी ने घटना स्थल कर्नेल गंज हाजी चौक पर रिपोर्ट लेख करायीं कि दिनांक 14/02/2015 को मैं अपने घर के अंदर था तभी लोगो की भीड़ आई जो डण्डा, फर्सी, तलवार लिये थी मेरे घर के सामने हमारी मारूति वेन की तोड़-फोड़ कर दी एवं स्पलेण्डर मोटर सायकल की भी तलवारों से तोड़फोड़ कर दी जिससे मेरा काफी नुकसान हुआ तथा बिजली के मीटर की तोड़फोड़ की तथा अन्य लोगो के कई वाहनो की भी तोड़फोड़़ की तथा कई घरो को क्षतिग्रस्त  किया।
  
5.      

मोटरसाइकिल चोरों की जमानत निरस्त

गुना। न्यायालय राधौगढ़ में दो मोटर सायकल चोरी के आरोपीगण दिनेश भील, मोकम भील निवासी लटेरी विदिशा को पुलिस राधौगढ़ द्वारा पेश किया गया।
 
             शासन का पक्ष रखने वाले एडीपीओ मयंक भारद्वाज ने बताया कि फरियादी कामताप्रसाद मेर एवं जितेन्द्र मेर निवासीगण मेर मोहल्ला  राधौगढ़ ने थाने में उपस्थित होकर रिपोर्ट लेख करायीं कि दिनांक 18/09/2019 को हम दोनो ने आमने-सामने रहते है हम दोनो ने अपनी-अपनी मोटर सायकल घर के बाहर रखकर करीब 10 बजे सो गये थे। फिर मैं कामताप्रसाद मेर सुबह करीबन 4 बजे  उठा तो मैने देखा तो मेरी मोटर सायकल नहीं थीं फिर मैंने अपने पड़ोसी जितेन्द्रमेर को जगाया और कहा कि कोई चोर मेरी मोटर सायकल चुराकर ले गया तो उसने अपनी मोटर सायकल देखी तो जितेन्द्र की भी मोटर सायकल नहीं दिखी जो आरोपी गणों से जपत हुई

नया पेज पुराने