आबकारी उपनिरीक्षक खानबलकर आए वापस, अब शिवपुरी का कामकाज देखेंगे | Shivpuri News


नवागत जिला आबकारी अधिकारी के निर्देशन में करेंगें आबकारी विभाग का काम
शिवपुरी. अवैध रूप से कच्ची शराब को समय रहते रोकने के मामले में अग्रणीय रहने वाले जिला आबकारी उपनिरीक्षक अनिरूद्ध खानबिलकर को कुछ दिन पहले पिछोर में अंग्रेजी शराब की दुकान को न खोलने के एक बिबाद में निलंबित कर दिया गया था। जब इस पूरे मामले की जांच हुई तो आबकारी अधिकारी खान बलकर को क्लीन चिट मिल गई और वह अब जिला मुख्यालय पर नवागत जिला आबकारी अधिकारी वीरेन्द्र सिंह धाकड़ के निर्देशानुसार शहर में आबकारी विभाग का काम देंखेगें।

बता दें कि बीते दिन पहले मध्यप्रदेश शासन के नियमो को लेकर इंदौर भोपाल से आये हुए शराब व्यापारियों ने सरकार पर दबाब बनाकर आबकारी उपनिरीक्षक अनिरूद्ध खानबिलकर के खिलाफ पिछोर में शराब दुकान ना खोलने को लेकर शिकायत दर्ज कराई थी जबकि खानबिलकर कोरोना काल के समय बाहर से आए शराब विक्रय करने वालों की मेडीकल जांच की मांग कर रहे थे लेकिन यहां शराब ठेकेदारों की मनमानी चली और इस मामले में आबकारी उपनिरीक्षक अनिरुद्ध खानबलकर को दोषी बताकर निलंबित कर दिया गया 

लेकिन जब मामले की जांच हुई तो इस मामले में श्री खानबिलकर को पुऩ बहाली मिल गई है और वह आवकारी उपनिरीक्षक के रूप में फिर से शिवपुरी में पदस्थ होकर अपनी शासकीय सेवाऐं देंगें। बताना होगा कि लॉक डाउन के दौरान जब शराब ठेके बदले थे। इसी दौरान भोपाल सहित अन्य रेड जॉन से आए ओर बिना जांच के दुकानों पर बैठने को लेकर आबकारी उपनिरीक्षक से विबाद हो गया था। इस विवाद ने राजनीतिक तूल के चलते भोपाल से खानवलकर को सस्पेंड कर ग्वालियर मुख्यालय अटैच कर दिया था। जहाँ आज इस मामले में जांच के बाद आवकारी विभाग ने अनिरुद्ध खानवलकर को वहाल कर शिवपुरी बापिस भेज दिया हैं।
नया पेज पुराने