कोरोना महामारी में शहीदों के शहीद स्थल पर पहुंचकर दी जाएगी श्रद्धांजलि

बीपीएम जयहिंद मिशन व संत रैदास संस्था द्वारा तात्याटोपेए मंगल पांडे और झांसी पहुंचकर करेंगें पष्पांजलि
शिवपुरी। इस बार कोरोना महामारी का असर अमर शहीदों के बलिदान दिवस पर भी प्रभाव पड़ रहा है जिस पर शासन के नियम निर्देशों का पालन करते हुए शहीदों की शहादत में निकलने वाली पैदल मशाल यात्रा को स्थगित करते हुए अमर शहीदों के बलिदान स्थल पर पहुंचकर इस बार ही श्रद्धांजलि दी जाएगी। समाजसेवी संस्था बीपीएम जयहिंद मिशन के अध्यक्ष जेलर व्हीएस मौर्य व संत रैदास लोक कल्याण ट्रस्ट अध्यक्ष डॉ. कपिल मौर्य ने संयुक्त रूप से बताया कि प्रतिवर्ष अमर शहीदों की शहादत के अवसर पर उनकी संस्था द्वारा पैदल मशाल यात्रा निकाली जाती थी। इसी क्रम में आगामी 18 जून को भी झांसी की रानी लक्ष्मीबाई के बलिदान दिवस के अवसर पर पैदल मशाल यात्रा निकालते लेकिन इस समय कोरोना महामारी का प्रभाव है और लॉकडाउन के हालातों में शहीदों के बलिदान की स्मृतियों को भुलाया नहीं जा सकता। इसलिए संस्था द्वारा इस बार 18 जून को तात्याटोपे की समाधि स्थल से चार पहिया वाहन में सवार होकर श्रद्धांजलि देने के लिए संस्था के पदाधिकारी करैरा स्थित मंगल पांडे की प्रतिमा स्थल पर पहुंचेेगी जहां दोपहर 2 बजे श्रद्धांजलि स्वरूप पुष्पांजलि अर्पित की जाएगी। इसके बाद अपने आगामी पड़ाव झांसी में वीरांगना रानी लक्ष्मीबाई के बलिदान स्थल पर भी संस्था के पदाधिकारी व सदस्य पहुंचकर अपनी पुप्पांजलि अर्पित करेंगें जिसमें लॉकडाउन के नियमों के तहत मास्क एवं सुरक्षित दूरी का विशेष ख्याल रखा जाएगा।
नया पेज पुराने