आपके द्वारा किया गया दान देश प्रदेश के लिए उपयोगी: डॉ रामजी दास राठौर | Shivpuri News

शिवपुरी। शिक्षाविद एवं समाजसेवी डॉ राम जी दास राठौर ने मुख्यमंत्री राहत कोष में आंशिक सहयोग करते हुए समाज के सभी विभागों के अधिकारी, कर्मचारी ,अस्थाई कर्मचारी , संविदा कर्मचारी, अतिथि विद्वान एवं  व्यापारी सहित सभी वर्गो से विनम्र अपील की है कि आप वर्तमान परिस्थितियों को दृष्टिगत रखते हुए देश एवं प्रदेश के आम नागरिकों के हितों को ध्यान में रखकर दान अवश्य करें। आपके द्वारा किया गया एक छोटा सा दान किसी जरूरतमंद,बेसहारा के लिए मददगार साबित होगा। शास्त्रों में दान की महिमा वर्णन करते हुए कहा गया है : एन केन विधि दीजिए, दान करे कल्याण। हम सौभाग्यशाली हैं कि ईश्वर ने हमें इस योग्य बनाया है कि हम समय आने पर अपने देश,प्रदेश की मदद कर सकते हैं। हमें इस अवसर का पूर्ण लाभ उठाते हुए अधिक से अधिक सहयोग करना चाहिए। महत्वपूर्ण यह नहीं है कि आपने दान कितना किया, महत्वपूर्ण यह है कि आपने दान किया। आप अपनी क्षमता के अनुसार सहयोग कर सकते हैं। दान केवल रुपए पैसों का ही नहीं होता। आप समय, श्रम एवं सकारात्मक वैचारिक सहयोग के माध्यम से भी लोगों की मदद कर सकते हैं। आप व्यापारी हैं तो समाज हित में नाम मात्र के लाभ पर अपने व्यापार से आम जनता की सेवा कर सकते हैं। शास्त्र कहते हैं सेवा सरस धर्म नहीं भाई। व्यापारिक लाभ कमाने के लिए तो उम्र पड़ी है। आपके द्वारा आज पहुंचाई गई मदद से समाज के सभी वर्ग लाभान्वित होंगे। वर्तमान में हम सभी को हम जिस भी पद पर हैं अपने समस्त कर्तव्यों का निर्वहन करना है। प्रभु श्री राम जब समुद्र पर सेतु बनाना चाहते थे तो उन्हें सहयोग करने के लिए एक छोटी गिलहरी भी समुद्र में छोटे-छोटे कंकड़ डालने लगी तब प्रभु श्री राम ने उसके सिर पर हाथ रख कर पूछा कि आपके छोटे से कंकड़ से सेतु कैसे बनेगा तो उसने कहा प्रभु मैं अपनी क्षमता के अनुसार आपका सहयोग करना चाहती हूं। इस प्रसंग से हमें  प्रेरणा लेनी चाहिए कि हम जिस स्तर पर है। हम सहयोग करने की भावना के साथ सभी की मदद करें। अंत में आपसे विनम्र निवेदन करता हूं कि आप अपना सहयोग अवश्य करें।देश प्रदेश को आज आपके सहयोग की अनिवार्य आवश्यकता है क्योंकि किसी ने कहा है : माना कि अंधेरा घना है पर अपने हिस्से का चिराग जलाना कहां मना है। आप सभी अपना दान रुपी चिराग जलाए रखें, जिससे कि मानवता रूपी दीपक हमेशा प्रज्वलित होता रहे।

नया पेज पुराने