प्राणघातक हमले के आरोपी गढ़ पर अभी तक आई पी सी की धारा 307 में नही हुआ मामला दर्ज खुल्ला घूम रहे आरोपी | Shivpuri News


शिवपुरी। जिले के थाना क्षेत्र रन्नौद में 30 व 31 की दरमियानी रात में अज्ञात बदमाश ने कहि बहार कि कोई बड़ी गैंग के साथ मिल कर आधा दर्जन नगर के नाम चीन घरो में निशाना बनाते हूए हाथ साफ कर लिए ।इसके बाद वह फरार हो गए जैसे ही जिस जिस के जहाँ चोरी हुई उक्त परिजन आग बबूला हुए और एडिशनल एसपी गजेन्द्र सिंह कंवर घटना की जानकारी लगते ही रन्नौद थाना में दस्तक दे दी फिर इसी बीच घटन स्थल पहुचे एडिशनल एसपी घटना की  कुछ जांच करते इससे पहले एक बड़ी घटना सामने आई जहाँ एक मुस्लिम युवक व उसके पिता को बौहरे परिवार के आधा दर्जन से अधिक लोगो ने बिना चोरी के साबूत के आधार पर निर्दोष युवक को इतना मारा कि कई हॉस्पिटल चेंज किये परन्तु अभी तक उक्त युवक ठीक नही हुआ और हालत दिन व दिन सीरियस होती जा रही है सर में ब्लड जमना बताया जा रहा है और हालत में तो आराम मिलने का नाम नही ले रहा है पूरा गांव में आक्रोश में है उक्त युवक को कुछ हुआ तो किसी भी हद तक जा सकते है लोग पीड़ित पक्ष के वयान तो पुलिस ने दर्ज कर लिए परन्तु अभी तक साधारण धाराओ में मामला पन्जीबद्ध हुआ है जबकि इतनी बड़ी घटना में 307 की धाराओ में इजाफा होना था पुलिस को उक्त घटना क्रम बड़ा ही चुनोती पूर्वक भरा दिखाई दे रहा है।

एक तरफ पुलिस को आधा दर्जन घरो में हुई चोरी को भी समय रहते पकड़ कर पुलिसिंग को साफ और बे दाग़ साबित करना है।

तो दूसरी तरफ प्राणघातक हमले में अभी तक पुलिस ने कोई बड़ी कार्यवाई नही की थाना प्रभारी का कहना है हम डॉक्टर की सीटी स्केन रिपोर्ट का इन्तेजार कर रहे है एक रिपोर्ट अ गई है हाथ फैक्चर वाली जिसमे धारा 25 का इजाफा किया गया डॉक्टर अगर यह रिपोर्ट जितने जल्द देंगे उतने जल्द कार्यवाई कर आरोपियों को पकड़ने का प्रयास जारी रखेंगे।

गांव गांव के कौने कौने तक चर्चा है ऐसा क्यों किया आरोपी पक्ष ने अगर कुछ साबूत थे तो वह पुलिस के सामने या मुस्लिम समाज के लोगो के सामने उक्त मामला सामने रखते ऐसा कुछ होता तो वह सब कार्यवाई और अच्छे से कर बाते परन्तु उक्त घटना को अंजाम दिया है वह गलत है गांव के लोगो ने नाम न छापते हुए कहा है कि जिस जिस ने बे कसूर युवक के ऊपर प्राणघातक हमला किया वह बहुत ही निंदनीय है उक्त घटना क्रम।
अदमरा हालत में रन्नौद पुलिस ने पहले किया बदरवास रेफ़र फिर शिवपुरी उसके वाद ग्वालियर ।
ग्वालियर में भी 3 हॉस्पिटल हुए चेंज अभी भी अपनी मौत जिंदगी से लड़ रहा बे कसूर युवक राजा अली खान ।
पुलिस कर रही रिपोर्टिंग आने का इन्तेजार कहि ऐसा न हो कुछ अन होनी हो जाये।

एसपी महोदय जी को चाहिए कि समय रहते पीड़ित पक्ष को न्याय दिलाये और आरोपियों को जेल की सलाखों के पीछे डाला जाये जबकि उक्त आरोपी पहले से ही तिवारी मडर कांड में 302 का मुजरिम है ।

इनका कहना है दिलशाद खान निवासी रन्नौद मेंरे बेटे के साथ जो बौहरे परिवार के आधा दर्जन ने गम्भीर वारदात को अंजाम दिया हमे न्याय चाहिए और आरोपी को जेल की सजा हो पहले भी 302 के मुजरिम है आरोपी
नया पेज पुराने