एमपी का 'उसेन बोल्ट' ट्रायल में आखिरी नंबर पर रहा, अब एक महीने बाद फिर होगा टेस्ट ! Bhopal News

mp usain bolt rameshwar gurjar comes last in 100 meter trial in tt nager stadium bhopalusain

  • एक वीडियो में उन्हें सड़क पर नंगे पैर 100 मी. की दौड़ 11 सेकंड में पूरी करते हुए दिखाया गया है
  • 100 मी. दौड़ का राष्ट्रीय रिकॉर्ड ही 10.30 सेकंड का है, जो अनिल कुमार के नाम है
  • ट्रायल में फेल होने के बाद रामेश्वर ने कहा कि पहली बार ट्रैक पर जूते पहन के दौड़ा इसलिए पीछे रह गया

भोपाल। 100 मीटर की दौड़ 11 सेकेंड पूरी करने का वीडियो वायरल होने के बाद रातोंरात स्टार बना शिवपुरी का रामेश्वर गुर्जर भोपाल के टीटी नगर स्टेडियम में हुई ट्रायल में फेल हो गया। छह धावकों के साथ दौड़ा रामेश्वर आखिरी नंबर पर रहा। उसने ये दौड़ 12.90 सेकंड में पूरी की। रामेश्वर के साथ दौड़े आयुष तिवारी पहले स्थान पर रहे। ट्रायल में फेल होने के बाद रामेश्वर ने कहा कि पहली बार ट्रैक पर जूते पहन के दौड़ा इसलिए पीछे रह गया। मेरी कमर और पीठ में भी दर्द है। लेकिन एक महीने बाद में उम्मीद पर खरा उतरुगा
वीडियो के वायरल होते ही मध्यप्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने भी इसे शेयर करते हुए केंद्रीय खेलमंत्री किरेन रिजिजू को टैग कर दिया। इसके बाद किरण रिजिजू ने रामेश्वर को दिल्ली भेजने कहा। लेकिन इससे पहले ही प्रदेश के खेल मंत्री जीतू पटवारी ने रामेश्वर को भोपाल बुला लिया ओर मीडिया के सामने पेश कर दिया।  क्या रामेश्वर वाकई 11 सेकंड में दौड़ पूरी कर सकते हैं? यह देखने के लिए शनिवार को टीटी नगर स्टेडियम में उन्हें दौड़ने के लिए कहा गया। लेकिन, रामेश्वर ने कहा कि वे काफी थके हुए हैं। उन्हें थोड़ा आराम चाहिए। फिर तय हुआ कि उन्हें सोमवार को मध्यप्रदेश अकादमी के अन्य धावकों के साथ दौड़ाया जाएगा।
स्टेडियम में लगी लोगों की भीड़: सोमवार सुबह से ही टीटी नगर स्टेडियम में एमपी के 'उसेन बोल्ट' को देखने लोगों की भीड़ लग गई। खेल मंत्री जीतू पटवारी खुद स्टेडियम पहुंच गए। रामेश्वर को प्रदेश के अन्य छह धावकों के साथ दौड़ाया गया। रामेश्वर सात एथलीट में आखिरी स्थान पर आया। 100 मीटर की रेस पूरी करने में 12.88 सेकेंड का समय लिया। रामेश्वर की ट्रायल के बाद खेल मंत्री जीतू पटवारी ने कहा कि वह पहली बार इस तरह के माहौल में दौड़ा है। भले ही वो ट्रायल में आखिरी स्थान पर रहा हो, लेकिन हम उसे मध्य प्रदेश एथलेटिक्स एकेडमी में अगले एक महीने तक ट्रेनिंग देंगे। इसके बाद फिर से उसका ट्रायल लिया जाएगा।
खेल मंत्री ने कहा दिया जाएगा ओपन फोरम 
रामेश्वर के ट्रायल के बाद खेल मंत्री जीतू पटवारी ने कहा कि प्रदेश में संभावित खिलाड़ियों को 'ओपन फोरम' दिया जाएगा, ताकि दूरदराज के हिस्सों के खिलाड़ियों को अपनी प्रतिभा समाज के सामने लाने के लिए मंच उपलब्ध हो सके। प्रदेश के ग्रामीण क्षेत्रों समेत दूरदराज के क्षेत्रों में कई खेल प्रतिभाएं हो सकती हैं। सरकार ऐसे खिलाड़ियों को प्रोत्साहन देने के लिए ओपन फोरम देगी, ताकि अच्छी प्रतिभाएं ट्रायल दे सकें।

नया पेज पुराने