आतंकी अलर्ट के बीच गुजरात बॉर्डर पर AK- 47, हम डंडों के सहारे ! Jhabua News

आतंकी अलर्ट के बीच गुजरात बॉर्डर पर AK- 47, हम डंडों के सहारे

झाबुआ। आतंकवादियों के संबंध में मिल रही खुफिया जानकारी के बाद 1 किमी की दूरी पर गुजरात व मप्र की पुलिस गश्त करने लगी है। किसी भी अप्रिय स्थिति से निपटने के लिए दोनों पुलिस की तैयारियां भी बहुत अलग-अलग है। गुजरात बॉर्डर पर खड़े जवानों के पास एके 47, 8-10 इंसाफ रायफल, बुलेटप्रूफ जैकेट आदि है। इधर मप्र पुलिस के जवानों के पास मुख्य रूप से डंडे हैं। केवल एक रायफल दिखाई पड़ी है।
दोनों बॉर्डर पर जवानों की संख्या भी अलग-अलग है। प्रदेश से लगभग 3 गुना अधिक जवान गुजरात बॉर्डर पर तैनात हैं। दाहोद एसपी एक घंटे तक गुजरात बॉर्डर पर आकर मंगलवार को खड़े भी रहे। इधर तो बीच-बीच में दुपहिया वाहन चालकों के भी चालान बनाए जाने लगे थे

दाहोद एसपी एक घंटे तक खड़े रहे गुजरात बॉर्डर पर
गुजरात बॉर्डर पर सोमवार की दोपहर से ही आतंकवाद विरोधी दस्ता संपूर्ण तैयारी के साथ तैनात हो गया था। हर वाहन की सघन जांच की जा रही थी। शाम तक इससे लगी मध्य प्रदेश की सीमा पर सुस्ती का माहौल रहा। पुलिस अधिकारियों से पूछा तो उन्होंने कहा कि उन्हें कोई जानकारी नहीं है। रात को अचानक मप्र की पुलिस हरकत में आई।

प्रदेश की बॉर्डर ही नहीं बल्कि गुजरात जाने वाले 11 स्थानों पर भी चेकिंग शुरू होने का दावा किया। इधर प्रदेश की पिटोल बॉर्डर पर रात 12 बजे के बाद चेकिंग अभियान थम गया। मंगलवार को सुबह 9 बजे वापस आरंभ हुआ। उधर गुजरात में सतत अभियान चलता रहा। मंगलवार को दोनों बॉर्डर का परिदृश्य अलग-अलग था।
दाहोद एसपी बॉर्डर पर आए

दाहोद के एसपी हितेश जॉयसर सुबह 11 बजे के लगभग गुजरात बॉर्डर पर आए। यहां उन्होंने एक घंटे खड़े रहकर तमाम व्यवस्थाओं का जायजा लिया। इस दौरान बताया कि गुजरात के सभी बॉर्डर पर इसी तरह से सुरक्षा व्यवस्था कर दी गई है। आतंकवादियों के आने की खुफिया जानकारी है। किस दिशा से कहां जा रहे हैं, ऐसा कुछ भी स्पष्ट नहीं है। केवल हाई अलर्ट कर दिया गया है। गांधीनगर से अगला आदेश मिलने तक बॉर्डर पर आतंकवाद विरोधी दस्ता तैनात रहेगा।
यह रहा दोनों में अंतर

प्रदेश की बॉर्डर पर सब इंस्पेक्टर कोमल मीणा के साथ एक एएसआई व 10 आरक्षक मंगलवार को तैनात थे। एक रायफल व अन्य के हाथ में डंडे नजर आए। बीच-बीच में दुपहिया वाहनों के खिलाफ चालानी कार्रवाई भी आरंभ हो गई थी। उधर गुजरात बॉर्डर पर 30 जवान मुस्तैदी के साथ तैनात हैं। 24 घंटे हर स्थिति से निपटने के लिए तमाम सुविधाओं से लैस हैं।
महाराष्ट्र व गुजरात में अलर्ट

झाबुआ एसपी विनीत जैन ने बताया कि गुजरात जाने वाले सभी 11 स्थानों पर चेकिंग जारी है। हाईवे पर प्रदेश की बॉर्डर पर पुलिस दल तैनात किया गया है। महाराष्ट्र व गुजरात में हाई अलर्ट जारी हुआ है। प्रदेश में इस तरह का अलर्ट नहीं है, लेकिन यहां पर भी सुरक्षा व्यवस्था कड़ी कर दी गई है। उपलब्ध संसाधनों के बारे में जब पूछा तो एसपी जैन का कहना था कि पुलिस के पास पर्याप्त हथियार की व्यवस्था है।
बड़े वाहन छाेडे जा रहे
कार व जीपों को रोका जा रहा है। चेकिंग भी इन्हीं वाहनों की मुख्य रूप से हो रही है। बडे ट्रक, टैंकर, ट्रॉले आदि की जांच नहीं हो रही। सुरक्षा व्यवस्था की दृष्टि से हर वाहन की जांच होना चाहिए। बड़े वाहनों को छोड़ना ठीक नहीं गुजरात में अलर्ट जारी होने के काफी समय बाद प्रदेश पुलिस सक्रिय हुई।
नया पेज पुराने