पोता लड़की लेकर भागा तो उसकी 100 वर्षीय दादी को पीटा, मौत ! Ratlam News

पोता लड़की लेकर भागा तो उसकी 100 वर्षीय दादी को पीटा, मौत
रतलाम। रावटी थाना क्षेत्र की ग्राम पंचायत सेलज देवदा के ग्राम सेमलखेड़ी का एक युवक लड़की लेकर भाग गया। लड़की पक्ष के लोगों ने युवक के पिता, भाई और करीब 100 वर्षीय दादी से मारपीट की। घायल दादी को अधिक चोट आने से जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया था, जहां उनकी मौत हो गई।युवक के परिजन ने लड़की पक्ष के लोगों पर हत्या करने का आरोप लगाकर कार्रवाई की मांग की है।
जानकारी के अनुसार ईश्वर पिता नाहर डामोर (21) निवासी ग्राम सेमलखेड़ी एकमाह पहले एक लड़की को लेकर भाग गया। लड़की पक्ष के लोगों को इसकी जानकारी मिली तो उन्होंने पुलिस को सूचना दी। काफी खोजबीन के बाद भी लड़की और ईश्वर नहीं मिले। 13 अगस्त 2019 की शाम लड़की पक्ष के लोग ईश्वर के घर पहुंचे और लड़की लाकर देने की मांग की। ईश्वर के पिता व भाइयों ने कहा कि उन्हें नहीं पता लड़की और ईश्वर कहां है, वे भी उनकी तलाश कर रहे हैं।ढूंढ कर ला देंगे।

इस पर लड़की पक्ष के लोग नहीं माने और गुस्सा होकर लाठी व पत्थरों से ईश्वर के परिजन पर हमला कर दिया। इससे ईश्वर के पिता नाहर डामोर, दादी बिजलीबाई व भाई गोविंद घायल हो गए। करीब सौ वर्षीय दादी को पैरों व शरीर के अन्य हिस्सों में गंभीर चोट आने से रावटी के सरकारी अस्पताल ले जाया गया था। प्राथमिक उपचार के बाद उन्हें जिला अस्पताल रेफर किया गया। तबीयत में सुधार होने पर 16 अगस्त को उन्हें छुट्टी दे दी गई। परिजन उन्हें घर ले गए थे। 19 अगस्त की रात बिजली बाई की तबीयत बिगड़ी तो परिजन उन्हें रावटी अस्पताल ले गए, वहां से पुन: जिला अस्पताल रेफर किया गया, जहां सोमवार सुबह साढ़े दस बजे बिजली बाई ने दम तोड़ दिया। पुलिस ने पोस्टमार्टम कराकर शव परिजन को सौंप दिया।
लड़की उसकी इच्छा से आई थी, उम्र संबंधी दस्तावेज नहीं

ईश्वर के बड़े भाई गोविंद ने बताया कि लड़की और ईश्वर एक-दूसरे से प्रेम करते हैं। लड़की एक माह पहले रात करीब 12 बजे अपनी इच्छा से ईश्वर के पास आई थी और उसके साथ कहीं चली गई। लड़की पक्ष के लोग आए थे, हमने कहा था कि तलाश रहे है, मिल जाएंगी तो लड़की को आपके सुपुर्द कर देंगे, लेकिन वे नहीं माने और मारपीट की, इससे दादी बिजली बाई गंभीर रूप से घायल हो गई थी और चोटों के कारण उनकी मौत हो गई। दादी बिजली बाई की उम्र 100 वर्ष है, उनका उम्र संबंधी प्रमाणपत्र नहीं है। बिजली बाई के चार लड़के हैं, सबसे बड़े लड़के झीता डामोर की उम्र 80 वर्ष है, उनसे छोटा सग्गू (75), रायचंद्र 65 और नाहर करीब 60 वर्ष के हैं। एएसआई शिवनाथसिंह राठौर ने बताया कि बिजलीबाई के परिजन ने मारपीट करने से बिजलीबाई की मौत का आरोप लगाया है, मामले की जांच की जा रही है।
नया पेज पुराने